Sports

I was not considered before writing letter to AIFF: FPAI President | एआईएफएफ को पत्र लिखने से पहले मुझसे विचार नहीं किया गया : एफपीएआई अध्यक्ष



कोलकाता, 31 जुलाई (आईएएनएस)। भारतीय फुटबाल खिलाड़ी संघ (एफपीएआई) के अध्यक्ष रेनेडी सिंह ने कहा है कि अखिल भारतीय फुटबाल महासंघ (एआईएफएफ) और आईएसएल के आयोजकों को जब पत्र भेजा गया तो उनसे विचार विमर्श नहीं किया गया।

एफपीएआई ने इस सीजन में फुटबाल क्लब ईस्ट बंगाल को इंडियन सुपर लीग (आईएसएल) में शामिल करने के लिए एआईएफएफ और आईएसएल के आयोजकों को शुक्रवार को एक पत्र लिखा।

रेनेडी ने एक बयान में कहा, ऐसा लगता है कि ईस्ट बंगाल को आईएसएल में शामिल करने के संबंध में एफपीएआई द्वारा एआईएफएफ और एफएसडीएल को भेजे गए पत्र ने कुछ फुटबॉल हितधारकों और प्रेस के सदस्यों के बीच कुछ अनावश्यक विवाद खड़ा कर दिया है।

पूर्व भारतीय फुटबालर ने कहा, इस अवसर पर मैं सभी को सूचित करना चाहूंगा कि इस तरह के पत्र भेजने से पहले मुझे विश्वास में नहीं लिया गया और न ही मुझसे विचार विमर्श किया गया। किसी एक विशेष क्लब के समर्थन में आना गलत है क्योंकि हम यहां केवल खिलाड़ियों का समर्थन करने के लिए हैं। क्लब को अपने आंतरिक मामलों को फेडरेशन और एफएसडीएल के साथ मिलकर निपटाना चाहिए।

आईएसएल और फुटबाल स्पोर्ट्स डेवलपमेंट (एफएसडीएल) की हाल ही में हुई एक बैठक में इस बात पर फैसला किया गया कि आयोजक इस सीजन की मौजूदा योजना के अनुसार ही चलेंगे, जिसमें 10 टीमें भाग लेंगी।

एफएसडीएल ने साफ कर दिया था कि नवंबर में शुरू होने वाले आईएसएल सीजन में 10 टीमें ही खेलेंगी, जोकि पिछले सीजन का हिस्सा थीं। 2021-21 सीजन में टीमों की संख्या बढ़ाने पर विचार नहीं किया गया है।

इससे पहले, एफपीएआई ने एआईएफएफ और आईएसएल के आयोजक एफएसडीएल को पत्र लिखकर संबंधित हितधारकों से अनुरोध किया कि वे इस मामले का जल्दी हल निकालें और देश के सबसे बड़े क्लब को आईएसएल में शामिल करें।

एफपीएआई जनरल मैनेजर साइरस कन्फेक्शनर हस्ताक्षरित पत्र में लिखा गया, खिलाड़ियों को अपनी आजीविका के लिए खेलने-कमाने के लिए अधिक फुटबॉल क्लबों की आवश्यकता है। खिलाड़ी और क्लब दोनों ही खेल के अस्तित्व के लिए आवश्यक हैं। इसलिए हमें क्लबों का भी समर्थन करने की आवश्यकता होती है।

उन्होंने कहा, संघ में हम आपसे अनुरोध करते हैं कि ईस्ट बंगाल को बिना किसी हिचकिचाहट या विलंब के आईएसएल में शामिल कर लें।

– -आईएएनएस



Source link