Business

MP: Income Tax Department’s new website is closed since launch, work stuck for people | MP: आयकर विभाग की नई वेबसाइट बनी दुविधा, लॉन्च के बाद से बंद रहने से अटके आयकरदाताओं के काम



डिजिटल डेस्क, भोपाल। इनकम टैक्स (Income Tax) यानी कि सरकार को दिए जाने वाला वो टैक्स जो आपकी कमाई के स्लैब के दायरे में आने के बाद देना होता है। इस टैक्स को जमा करने के वैसे तो कई तरीके हैं, लेकिन यह टैक्स पेमेंट आप ऑनलाइन भी कर सकते हैं, जो कि अधिक सुविधापूर्ण होता है। लेकिन आयकरदाताओं को दी जाने वाली यह सुविधा अब दुविधा बनती नजर आ रही है। मामला मप्र का है, जहां आयकर विभाग की नई वेबसाइट लॉन्च के बाद से बंद है। ऐसे में आयकारदाताओं को कई समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है। 

आपको बता दें कि आयकरदाताओं को सुविधा के तहत इनकम टैक्स की नई वेबसाइट 7 जून 2021 को लॉन्च की गई थी। लेकिन अब इस वेबसाइट पर ना तो आयकर रिटर्न फॉर्म डाउनलोड हो रहा है और ना ही ऑडिट रिपोर्ट अपलोड हो रही है। 

भोपाल में 105 रुपए के पार पहुंचा पेट्रोल, दिल्ली में चुकाना होंगे 96.93 रुपए

सूत्रों की मानें तो, वेबसाइट के बंद रहने से जून माह में आयकरदाताओं को काफी समस्याओंं का सामना करना पड़ रहा है। राजधानी भोपाल में ऐसे हजारों आयकरदाता हैं, जिनके काम नहीं हो सके हैं। इनमें नए बैंक लोन से लेकर कंपनी एक्ट के तहत ऑडिट रिपोर्ट फाइल करने जैसे कार्य शामिल हैं।

समस्या जस की तस
आयकर विभाग की नई वेबसाइट को लॉन्च करने का उद्देश्य आयकरदाताओं को अधिक सुविधा मुहैया कराना था। जिसमें आयकर और जीएसटी के रिटर्न और दूसरे डेटा एक ही जगह दिखना। आम आदमी के रिटर्न भरे हुए आना। शेयर और म्यूचुअल फंड की बिक्री से कैपिटल गैन होने की जानकारी, आयकरदाता को कुछ टैक्स यूपीआई और डेबिट-क्रेडिट कार्ड से बकाया टैक्स जमा कराने की सुविधा मिलना आदि शामिल हैं।

लेकिन बात करें इस माह की तो शुरुआती दिनों में 1 से 6 जून तक आयकर विभाग की वेबसाइट पूरी तरह बंद रही। वहीं इसकी लॉन्च तारीख यानी कि 7 जून को भी इसे समय से लॉन्च नहीं किया गया। वेबसाइट सुबह की जगह रात 9 बजे लॉन्च की गई। हालांकि लॉन्च होने के बाद भी समस्या का समाधान नहीं हुआ, दूसरे दिन यानी कि 8 जून से वेबसाइट धीमी गति से चलने के कारण रिटर्न फाइल नहीं हो पा रहे हैं। 

6 महीनों के सबसे ऊंचे स्तर पर खुदरा महंगाई दर, मई में बढ़कई हुई 6.3%

इन लोगों को अधिक समस्या
– 2.5 लाख से अधिक की आय वाले सभी व्यक्तिगत आयकरदाताओं को आयकर रिटर्न भरना होता है। इनमें कंपनियां और पार्टनरशिप फर्म भी शामिल हैं। भोपाल में इनकी संख्या 70 हजार है और इन्हें ये टैक्स 30 सितंबर तक भरना होगा। 
– जबकि भोपाल में 17 हजार लोग ऑडिट रिपोर्ट फाइल करते हैं। इनमें ऐसे लोग शामिल होते हैं, जिनका प्रॉफिट कुल टर्नओवर के 8% से कम हो। इसके अलावा एक करोड़ से ज्यादा टर्नओवर वाली फर्मों को ऑडिट रिपोर्ट फाइल करनी होती है। हालांकि यह कार्य पूरे साल चलता है। 
– सबसे अधिक समस्या उन लोगों को है, जिन्हें टैक्स अंतिम तिथि 30 जून तक भरना है। इनमें 1 करोड़ से अधिक टर्नओवर वाले व्यक्ति, पार्टनरशिप फर्म, ट्रस्ट, सोसायटी और कॉरपोरेशन शामिल हैं। इनकी संख्या 13 हजार है। 



Source link